चैत्र नवरात्रि के दुर्गा अष्टमी पर रात को कर लीजिये यह उपाय, कठोर समस्या का होगा अंत


इस बार चैत्र नवरात्रि की दुर्गा अष्टमी 1 अप्रैल को है। नवरात्रि पर्व में दुर्गा अष्टमी का बहुत महत्व है। अष्टमी के दिन महागुरु की विशेष पूजा की जाती है। दुर्गा को प्रसन्न करने और दुर्भाग्य को खत्म करने के साथ-साथ धन और समृद्धि प्राप्त करने के लिए यह उपाय करें।

दुर्गा अष्टमी का दिन नवरात्रि में बाकी दिनों की तुलना में थोड़ा अधिक विशेष माना जाता है। इस दिन देवी महागौरी की विशेष रूप से पूजा की जाती है। यहां कुछ उपाय बताए गए हैं जिन्हें अपनाकर दुर्भाग्य को दूर किया जा सकता है और सौभाग्य में वृद्धि होती है।


अष्टमी की रात 12 बजे घर के मुख्य द्वार पर शुद्ध देसी घी का दीपक जलाएं। तो दुर्भाग्य दूर हो जाता है। दुर्गा मंदिर में जाएं और 8 कमल के फूल मां को समर्पित करें। माता प्रसन्न होती हैं। इस दिन अपने घर में किसी योग्य विद्वान से दुर्गा सप्तशती का पाठ करें। खुशी घर में हमेशा के लिए रहेगी।

अपने घर पर लड़कियों को बुलाओ और भोजन कराइए। भोजन में हलवा जरुर बनाएं। बच्चों को उपहार भी दें। 11 सुहागन महिलाओं को लाल चूड़ियाँ और सिंदूर उपहार में दें। इससे ठोस लाभ के योग बनते हैं। मां के मंदिर में केले, अनार, सेब आदि फलों का भोग लगाइए। फिर इसे गरीबों में बांट दें।


देवी मंदिर में माता के श्रृंगार की संपूर्ण सामग्री को सजायें। यह बाधाओं को कम करेगा। दूध से भरे कटोरे में महागौरी के रूप को स्थापित करें और एक चांदी का सिक्का डालें। फिर सिक्के को धोएं और इसे हमेशा अपनी जेब में रखें ताकि पैसा आपके पास रहे।

Post a comment

0 Comments