लोकडाउन के दौरान इस तरह से मदद कर रही है पुलिस, निर्धन-भूखे लोगो को फ्री में बांट रही खाना


21 दिनों तक देशभर में लॉक डाउन की घोषणा के बाद काफी सख्ती बढ़ा दी गई है, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए 21 दिनों के लॉक डाउन का ऐलान किया है और इस समय के दौरान सभी नियमों का सख्ती से पालन किया जाने वाला है, पुलिस भी अब अपना सख्त रुख अपना रही है, हर तरफ लॉक डाउन के दौरान पुलिस सड़कों पर पूरी तरह से तैनात है, जो भी व्यक्ति लॉक डाउन के नियमों का उल्लंघन करता हुआ पाया जा रहा है उसके ऊपर तुरंत कार्यवाही हो रही है, जो लोग बेवजह इधर-उधर घूम रहे हैं उन लोगों को पुलिस के डंडे भी खाने पड़ रहे हैं, लेकिन ऐसा नहीं है कि पुलिस गरीब और असहाय लोगों की मदद नहीं कर रही है, आपको बता दें कि लॉक डाउन के इस माहौल में निर्धन लोगों और जरूरतमंद लोगों की सहायता के लिए पुलिस बहुत अहम भूमिका निभा रही है जी हां, उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में पुलिस खाना बनाकर निर्धन और बेसहारा भटक रहे लोगों को मुफ्त में भोजन दे रही है।



आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले में पुलिस निर्धन लोगों के लिए मसीहा बनकर सामने आई है, जैसा कि आप लोग जानते हैं हर तरफ कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकार ने कड़े नियम बनाए हैं और लॉक डाउन का निर्देश दिया है, लेकिन यूपी पुलिस जरूरतमंद लोगों को भोजन तैयार करके उनको दे रही है, लॉक डाउन की वजह से यातायात, बाजार सब बिल्कुल बंद हो गए हैं और गरीब लोग ऐसी स्थिति में भोजन के बिना काफी संकट में आ गए हैं, लेकिन प्रयागराज जिले में यूपी पुलिस गरीब और असहाय लोगों की मदद में जुटी हुई है, यहां पर सिविल लाइंस पुलिस स्टेशन में तैनात पुलिसकर्मियों ने खुद खाना बनाकर गरीबों में बांटा है, पुलिस वालों के इस कार्य को देखकर लोग इनकी काफी प्रशंसा कर रहे हैं, इनकी दरियादिली को देखकर लोग इनकी खूब सराहना कर रहे हैं।


पुलिस अधिकारियों का ऐसा बताना है कि हमने थानाध्यक्षों और पुलिस की गाड़ियों को यह सूचना दी है कि कहीं भी कोई भूखा और जरूरतमंद व्यक्ति मिलता है तो एनजीओ की सहायता से या फिर खुद से उनकी सहायता की जाए, इसके अलावा यह भी निर्देश दिए गए हैं कि किसी भी ऐसी गाड़ी को ना रोका जाए जो किसी संस्था से हो और वह गरीबों को भोजन मुहैया करा रही हो, यदि कोई संस्था गरीबों को भोजन करवाना चाहती है तो ऐसी स्थिति में 112 नंबर की पुलिस सहायता करेगी, लॉक डाउन की वजह से मजदूरों को काम नहीं मिल पा रहा है, ऐसी स्थिति में उनको बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है, मजदूर भूखे-प्यासे सड़कों पर बैठे हुए हैं, ऐसी स्थिति में स्थानीय पुलिस उनकी सहायता में लगी हुई है, स्वयंसेवी संस्थाओं से भी यह कहा गया है कि वह पुलिस को सूचना देकर निर्धन लोगों की सहायता करें।



अगर देखा जाए तो यूपी पुलिस द्वारा उठाया गया यह कदम सराहनीय है, वैसे भी लॉक डाउन की वजह से गरीब लोग भूख से तड़प रहे हैं, ऐसी स्थिति में पुलिस इनकी सहायता कर रही है, मजदूर रोजाना दिहाड़ी पर काम करके अपने परिवार का पेट पालते थे, परंतु अब उनको कोई भी रोजगार नहीं मिल पा रहा है, ऐसे में लोगों के पास पैसे नहीं होने की सूचना मिलने पर पुलिस कई इलाकों में जाकर गरीब लोगों को खाना वितरित कर रही है ताकि गरीब लोगों का पेट भर सके।

Post a comment

0 Comments